पुलिस अधीक्षक उज्जैन श्री सत्येंद्र कुमार शुक्ल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) श्री आकाश भूरिया के मार्गदशन में समाज के कमजोर वर्गों के विरुद्ध होने वाले अपराधो पर अंकुश लगाने एवं हो रहे अपराधों को संवेदनशीलता से सुनकर एवं उसका त्वरित एवम्। निष्पक्ष निराकरण करने हेतु थाना प्रभारी अजाक श्री दिलीप मौर्य के समन्वय से कार्यालय पुलिस अधीक्षक जिला उज्जैन में आज दिनांक 17.11.22
को एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम किया गया।
सेमिनार में वरिष्ठ अधिकारीगण एवं शहरी/देहात थाने के विवेचना अधिकारी मौजूद रहे, पुलिस अधीक्षक उज्जैन के निर्देशन में सभी विशेषज्ञ अधिकारियों द्वारा अनुसूचित जाति जनजाति एवं महिला वर्ग पर हो रहे अपराधों की रोकथाम एवं उनके त्वरित निराकरण हेतु निम्नलिखत विषय पर दिशा निर्देश दिए गए।

➡️ अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के पीड़ित लोगों राहत प्रकरण एवं यात्रा भत्ता के संबंध में महत्वपूर्ण निर्देश आदिम जाति एवं कल्याण विभाग अधिकारी सुश्री प्रीति जैन द्वारा दिए गए।

➡️ सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को महिलाओं पर होने वाली घरेलू हिंसा एवं महिलाओं पर होने वाले अपराधों पर चर्चा कर एवं समाज इस प्रकार के अपराधों को रोकने के लिए अपनी भूमिका दे सकता है, के सम्बंध में दिशा निर्देश महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री साबिर अहमद सिद्दीकी द्वारा दिए गए।

➡️ SC/ST से संबंधित प्रकरणों की विवेचना SOP के संबंध में महत्वपूर्ण निर्देश कार्यालय पुलिस अधीक्षक अजाक निरीक्षक के. एस. गहलोत द्वारा दिए गए।

➡️ अनुसूचित जाति जनजाति वर्गों से संबंधित विवेचना में साइबर सेल की क्या भूमिका रहेगी एवं साइबर सेल द्वारा क्या-क्या सावधानियां बरती जाएगी. के संबंध में उचित दिशा निर्देश साइबर सेल प्रभारी श्री प्रतीक यादव द्वारा दिए गए।